Call Us: 0551-234-2443

Why Copy West When We Have The Best....

Leave Message

Please feel free to leave Your Message.

Leave a Message

Feel free to leave message to us.

 
 
 
 

Do & Don't

महीने में एक बार / दो बार जुवेना का क्लीनअप क्यों जरुरी ?

हमारे क्लीनअप के रिजल्ट की वजह से हम पहली बार आने वाले क्लाइंट जिन्हें किसी भी प्रकार का डाउट हो तो यही क्लीनअप सजेस्ट करते है । क्लीन-अप इतना इफेक्टिव है कि कम पैसे ख़र्च कर क्लाइंट को विश्वास भी हासिल होता है तथा संतुष्टि भी मिल जाती है | अगर क्लीन-अप का ऐसा असर है तो बाकी specialized फेशियल्स का क्या असर होगा अंदाज़ लगा सकते है |
1) जुवेना के क्लीन-अप की प्रक्रिया उसे असली क्लीन-अप का दर्जा देकर उसे असरदार बनाती है |
2) प्रक्रिया:- सर्वप्रथम त्वचा को बाहरी रूप से साफ किया जाता है |
3) इसके पश्चात अंदरूनी परत ( डर्मिस – असली त्वचा) से स्पेशल थेरेपी द्वारा गंदगी को साफ़ किया जाता है |
4) त्वचा को फलो से निकले Enzymes से बाहरी रूप से पोषण दिया जाता है | इस लेप सी त्वचा में पानी की कमी की पूर्ति हो जाती है तथा पानी में घुलने वाला विटामिन C भी त्वचा को भरपूर रूप से मिल जाता है|
5) अब डर्मल लेयर तक पोषण पहुँचाने कि प्रक्रिया शुरु होती है | जिसके द्वारा प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स, जडीबुटीयो का अर्क मिलाकर त्वचा को स्वस्थ बनाते है| प्राकृतिक रूप से anti-tan असर देकर इवेन स्किन टोन प्रदान करते है |
6) अंत में जुवेना के पैक के ख़ज़ाने से एक बेहतरीन पैक का चयन, त्वचा के अनुरूप कर, लगाया जाता है |
7) रुखी झुर्रीदार त्वचा के लिए क्लीन-अप उचित नहीं होता |
8) ऐसी त्वचा के लिए वाजिब दाम में जुवेना के शुरुवाती समय से चली रही – lymphatic Drainage, algae mask, जैसी असरदार प्रक्रियाएं की जाती है |
9) महत्वपूर्ण : जिन clean-ups में बस उपरी तौर से दो-तीन तरह के क्लींजर से क्लीन कर scrubbing कर बाजार में बिकने वाले साधारण पैक या चन्दन , मुल्तानी मिट्टी लगायी जाय वे क्लीनअप तो आप स्वयं घर पर कर सकते है | उनका असर भी तो साधारण बिना किसी फायदे के होता है |


ब्लीच

a) ब्लीचिंग पाउडर
b) अमोनिया (NH3)
c) हाइड्रोजन पराऑक्साइड (H2O2)


दुनिया में कोई भी ब्लीच इन तीन केमिकल्स से ही बनता है | फ्रूट, गोल्ड, सिल्वर, पर्ल, डायमंड ब्लीच सिर्फ नाम है | इनमे कोई फल, फूल धातु मिलायी ही नहीं जा सकती | नाम के बहकावे में आकर स्वयं को ना बहलाएं| नियमित रूप से ब्लीच कराना या इक ही बार ब्लीच करना बराबर है | दोनों की त्वचा को ख़राब परिणाम भुगतने पड़ते है | फर्क इतना है कि किसी को दुष्परिणाम नज़र आ जाते हैं और किसी को मात्र काले का भूरा हो जाना ही नज़र आता है |
जुवेना के 24 साल के इतिहास में ब्लीच वर्जित ही रहा है | हमने beauty के क्षेत्र में जहां ब्लीच को सारे Branded Beauty Centers ने ब्लीच जैसी नुकसानदायक चीज़ को अपनाया उतना ही उसका कड़ा विरोध किया | अन्य beauty centers की तरह हमें गलत काम से अपनी जेबें नहीं भरनी बल्कि लोगों को सुंदर त्वचा पाने का सही रास्ता दिखाना है | आज दिन तक हमने अपने सिद्धांतो को स्थायी रखा है |
ऐसा कहकर हम अपनी तारीफ नहीं कर रहे अपितु सबको सतर्क कर रहे है| इस क्षेत्र में गलत काम करने से भी अन्य लोगो को रोक रहे है |


ब्लीच के दुष्परिणाम :-

1) त्वचा में नमी की कमी
2) हाइड्रोजन पराऑक्साइड को dehydrate करता है |
3) अमोनिया त्वचा को पीला कलर देता है | धीरे-धीरे त्वचा सांवली होने लगती है |
4) Ageing समय से पहले हो जाती है |
5) झाइयाँ, मुहासे, ओपन पोर्स, धब्बेदार त्वचा को ब्लीच के आम दुष्परिणाम है |